What is T – UP ? DBA ifazone system no.#6 by mlm india puri jankari

सबसे पहले तो सभी sniors को मेरी तरफ से  good business ………
तो आज हम बात करेंगे T – UP  के बारे में।  आगे बढ़ने से पहले आपको बताना चाहूंगा की t – up का मतलब होता है किसी की तारीफ़ करना।  और ये DBA ifazone company का system no. 6 है।  आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की आप किसी की तारीफ़ किस प्रकार से कर सकते हो।  वैसे तो आप सभी को पता ही है की  की तारीफ़ कैसे की जाती है।  लेकिन अगर आप network marketing का business कर रहे है तो आपको proffesional तरीके से तारीफ़ करनी आणि चाहीये।  तो इस सिस्टम में हम यही जानेंगे तो चलिए सुरु करते है।ये भी पढ़े > डायरेक्ट सेल्लिंग के फायदे

kisi ki taarif kaise kare.
DBA system number 6 t-up

                                                       T – UP

  • T – up क्या है और क्यों किया जाता है ?

जब भी हम किसी की तारीफ़ या बड़ाई करते है तो उसी चीज को T _ up कहा जाता है।

तारीफ़ करने का मुख्य कारन यही होता है की हम किसी भी आदमी को convence कर सकते है अपनी तरफ।
ये setuation के हिसाब से किया  किसी भी का t – up हर कही पर नहीं कर सकते है।  हर किसी की स्थिति के हिसाब से किया जाता है। अगर हम network marketing business कर रहे है तो हमे अपनी company का t – up करना पड़ता है।

अब में आपको कुछ example देकर बताऊंगा जी आपको  कंपनी का  T – up कैसे  है।  यहां पर में आपको DBA ifazone कंपनी का उदहारण देकर  बताने जा रहा हु।  ध्यान से पढियेगा।

पछले System Also read >

  1. Advisor
  2. Target
  3. Touring
  4. ABP sitting
  5. 5 Mint chit-chat
  6. T-up
  • T – UP कैसे किया जाता है ?
किसी का भी t – up करने के लिए आपको इन चीजों का ध्यान रखना चाहिए >
  1. Basic information – ( जरुरी जानकारी ) अगर हमे किसी की भी तारीफ़ करनी है तो सबसे पहले तो हमे उसके बारे  पूरी जानकारी होनी चाहिए।  जिसकी हम तारीफ़ कर रहे है।  क्योंकि अगर हम किसी की तारीफ कर रहे है और हमे उसके बारे में कुछ पता ही नहीं है तो हम उसकी तारीफ़ कैसे कर सकते है।
  2. Eyes Contect – ( आँखों का तालमेल ) जिस समय हम किसी की बड़ाई कर रहे होते है उस टाइम हमारी आँखों का तालमेल सामले वाले इंसान से मिलना चाहिए।  तभी उसको अच्छा लगेगा और वो ये सोचेगा की ये बिलकुल सही कह रहा है।  क्योंकि अगर हम देख कही रहे है और तारीफ़ किसी की कर रहे है तो ये कुछ अच्छा नही लगता है। 
  3. Face inpration – ( चेहरे का हाव भाव ) तारीफ़ करते समय हमारा चेहरे का हाव भाव भी उससे मैच होना चाहिए ऐसा नहीं लगाना चाहिए की कोई हमसे ये जबरजस्ती  करवा रहा है। 
  4. Voice tone – ( बुलंद आवाज ) हमारी आवाज में भी दम होना चाहिए और सामने वाले को लगना चाहिए की हाँ ये  बिलकुल सही बोल रहा है।  हमारी आवाज डरी हुई नहीं होनी चाहिए। 
  5. Filling – ( भावनाये ) सामने वाले बन्दे को लगना चाहिए की हां ये जो कह रहा है वो बिलकुल दिल से कह रहा है। 
  6. Body language – ( शारीरिक भाषा ) हमारे मुँह के साथ – साथ हमारे हाथो के इसारे से भी सामने वाले पर effect होना चाहिए। 
  7. Hi perness – ( जोश ) हमे पूरी हिम्मत और जोस के साथ बोलना चाहिए। 

  • Company का T – UP कैसे किया जाता है ?
  1. सबसे पहले तो आपको जिस कंपनी का T – up कर रहे हो उसका नाम बताना चाहिए। 
  2. Addres
  3. Company owerner name 
  4. Company work
  5. Brand or product name
  6. Company Lunching date ( about company )
  7. Comnpany all branches

 

  • Company distibutor’s T- up ?
  1. In company all seniors a good leaders
  2. All distibutor helping any time
  3.  In office all distibutor is same no big and no smaal any person
  4. All distibutor them respected language
  5. No worong direction to any 

  • Company के Product का T – up कैसे किया जाता है ?
सबसे पहले तो  कंपनी के प्रोडक्ट के बारे में अच्छे से बताना है।  उसकी पूरी तारीफ़ करनी है।  
 
  • Company invirment T-UP ?
 अपनी कंपनी के वातावरण के बारे में बताना है की आपकी कंपनी का महोला कैसा है और कहा पर है।  और कंपनी के बहार का और अंदर का कैसा वातावरण है।  अप्पकी कंपनी के अंदर क्या – क्या सुविधाएं है।  और कैसा system है। 

  • Company provide training 

यहाँ पर आपको अपनी कंपनी के द्वारा दी गयी ट्रेनिंग के बारे में टी उप करना है की आपकी company कितने अच्छे तरीके से सभी को ट्रेनिंग प्रोवाइड करवाती है।  

 
 
तो दोस्तों आज का ज्ञान यही पर समाप्त होता है 
जय हिन्द।  जय भारता। 

3 thoughts on “What is T – UP ? DBA ifazone system no.#6 by mlm india puri jankari”

Leave a Comment